तो इन 6 तरीकों से बन जाएगी बात, बढ़ेगा प्यार

 

क्लेश होने पर पति, पत्नी का हाथ थाम लें।

झगड़े से निपटने के लिए सवालों की झड़ी से बचें।

झगड़े कम करने के लिए गलती स्वीकार करें।

 

 

रोहन और प्रिया की शादी को पांच साल हो चुके हैं। इसके बावजूद जब उनके बीच कलह होती है, तो रोहन सिचुएशन को संभाल नहीं पाता। कई बार तो बात इतनी बिगड़ जाती है कि दोनों कई-कई दिनों तक आपस में बात नहीं करते। शादीशुदा जिंदगी में झगड़ा-तनाव होना आम बात है। सवाल है, झगड़े को हैंडल कैसे किया जाए? इसलिए यहां मौजूद है कुछ उपाय।

 

सो जाएं

 

कुछ थैरेपिस्ट और कुछ शादीशुदा दंपतियों का मानना है कि यदि पार्टनर्स के बीच तनाव हो जाए, तो ऐसी स्थिति में सो जाना बेहतर विकल्प रहता है। लेखिका ईरल मेकलियोड बात को और स्पष्ट करते हुए कहती है कि झगड़े बाद विस्तार में जाकर सो जाना बेहतर होता है। इससे झगड़ा तो कम होता ही है, साथ ही दोनों पार्टनर्स को खुद को आकलन करने का समय भी मिल जाता है। जबकि जागते हुए इस तरह की चीजें सोचना मुश्किल होता है, जो कलह और भी बढ़ा देती है।

ब्रेक लें

 

कई बार दंपतियों के बीच ऐसी स्थिति आती है कि बात-बात पर झगड़े-तनाव होने लगते हैं। ऐसी सिचुएशन को हैंडल करने के लिए ब्रेक लेना बेहतर होता है। क्लीनिकल काउंसलर टीमोथी वारनेका के मुताबिक महज 30 सेकेंड का ब्रेक भी झगड़े को रोक सकता है। ब्रेक लेने से झगड़े का बटन रीसेट हो जाता है। ऐसा करने से झगड़े की वजह अपने आप फीकी पड़ जाती है, जिससे झगड़े होने की संभावना कम हो जाती है। कहने का मतलब यह है कि अगर आप पत्नी आपसे लड़े तो कुछ देर के लिए कमर से बाहर निकल जाएं।

गलती स्वीकारें

 

हालांकि गलती स्वीकारना हर पार्टनर को थोड़ा मुश्किल लगता है। लेकिन यकीन मानिए यह बिल्कुल मुश्किल नहीं है। अगर आपकी वजह से आपकी पत्नी लड़ रही है, तो इसके लिए अपना बचाव करने की कोशिश न करें। इसके बावजू अपनी गलती को स्वीकार कर लें। ऐसा करने से कुछ देर के लिए घर में गहमा-गहमी का माहौल बना रहा सकता है। लेकिन जल्द ही महौल नर्म हो जाता है।

ह्यूमर तलाशें

 

23 साल तक शादीशुदा जिंदगी गुजार चुका एक दंपति इस बात को स्वीकारते हैं कि शादी की इतनी लंबी पारी आसा नहीं थी। इसके बावजूद वे मानते हैं कि झगड़े के बीच अगर कोई एक पार्टनर गुस्से में ह्यूमर तलाश ले, तो इससे झगड़ा जल्द ही कम हो जाता है। इसके लिए दोनों पति को पता होना चाहिए कि पत्नी को किसी बात पर हंसी आती है या फिर किस तरह के ह्यूमर से उसे चिढ़ है। इसके अलावा अगर पत्नी कोई गलती कर दे, तो उस पर उसे कमतर साबित करने की कोशिश न करें। इसके बजाय उसे अपनी गलती को सवीकारने का मौका दें।

हाथ थामें

 

जब झगड़ा हद से गुजरने लगे तो ऐसी स्थिति में कुछ न कहें। इसके बजाय अपनी पत्नी का हाथ थाम लें। मैरिज एंड फैमिली थैरेपिस्ट मेलोडी ब्रूक कहती हैं कि कई बार झगड़ा बिन वजह बढ़ता जाता है। समझ ही नहीं आता कि उसे रोका कैसे जाए। ऐसी सिचुएश में कुछ न कहें। अपनी पत्नी का हाथ थाम लें। इससे उसे लगेगा कि आप उसकी केयर करते हैं। इस तरह झगड़ा वहीं थम जाता है।

 

 

सवाल कम करें

 

झगड़ों में अकसर पति-पत्नी एक दूसरे पर आरोप-प्रत्यारोप लगाते रहते हैं। एक-दूसरे से सवाल पर सवाल पूछते रहते हैं। यकीन मानिए इस तरह के सवालों से कोई फायदा नहीं होने वाला। इसके उलट आप दोनों के दांपत्य जीवन में कलेश और भी ज्यादा बढ़ जाना है। ऐसी स्थिति से बचना है, तो बेहतर है कि सवालों की झड़ी न लगाएं।